फिल्मी दुनिया

सड़क हादसों की वजह से तबाह हो गया इन 5 फ़िल्मी सितारों का करियर

बॉलीवुड एक ऐसा प्लैटफ़ार्म है जहां कुछ लोगों को रातों रात स्टारडम मिल जाता है तो कुछ लोगों को सालों मेहनत करने के बाद भी कुछ खास सफलता नहीं मिल पाता है । वहीं दूसरी तरफ ये भी देखा जाये तो बहुत से ऐसे लोग हैं जिनको शुरुआत में सफलता तो मिल जाती है लेकिन वे अपने इस स्टारडम को ज्यादा दिन तक बनाए नहीं रख पाते हैं । और जो लोग अपने स्टारडम  को शुरू से अंत तक बनाए रखते हैं वही लोग बॉलीवुड में राज करते हैं । आज हम आप लोगों को 5 ऐसे ही बॉलीवुड कलाकारों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होने शुरुआत तो अच्छी की लेकिन सड़क हादसों की वजह से बहुत कम समय में ही बॉलीवुड से बाहर हो गए , या फिर ये कह लीजिये की उनकी पहचान एकदम से मिट गयी ।

अनु अग्रवाल

1990 में आई फिल्म आशिक़ी की वजह से अनु अग्रवाल ने रातों रात ही स्टारडम पा लिया था । इस फिल्म में उनके साथ थे राहुल रॉय। उस समय अनु अग्रवाल 21 वर्ष की थी , लेकिन फिल्म के रिलीज होने के कुछ साल बाद ही एक सड़क हादसे ने अनु अग्रवाल की जिंदगी एकदम गुमनाम कर दी । ये बात है साल 1999 की जब अनु अग्रवाल एक पार्टी आधी रात को अपने घर के लिए लौट रही थी, कि अचानक उनकी गाड़ी का बैलेंस बिगड़ा और उनकी गाड़ी पलट गयी । इस हादसे में अनु का चेहरा एकदम लहूलुहान हो गया था और वहाँ मौजूद लोगों में से कोई भी उनको पहचान नहीं पा रहा था । जब पुलिस को इस घटना की जानकारी मिली तब पुलिस ने उनको अस्पताल में भर्ती करवाया । उनकी हालत दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही थी जिसकी वजह से 29 दिनों के लिए अनु कोमा में चली गयी। 29 दिनों बाद जब उनको होश आया तो उनकी याददाश्त खो चुकी थी और वे अपनी पिछली जिंदगी के बारे में सब कुछ भूल चुकी थी।  उसके बाद उनको बिहार के मुंगेर योग साधना केंद्र भेजा गया जहां वे अपने याददाश्त को वापस लाने के लिए योग करने लगीं लेकिन जब उनकी याददाश्त वापस आई तब बहुत देर हो चुकी थी उनका पूरा कैरियर बर्बबाद हो चुका था । हालांकि वे अब ठीक हो चुकी हैं । आशिक़ी के अलावा अनु ने The Cloud Door , King Uncle , Khal – Naaikaa, जन्म कुंडली , आदि फिल्मों में काम किया है ।

चंद्रचूड़ सिंह

माचिस फिल्म से डेब्यू करने वाले एक्टर चंद्रचूड़ सिंह ने बहुत ही कम समय में एक से बढ़कर एक हिट फिल्में दी और बॉलीवुड में बुलंदियों को छुआ। उनकी फिल्म माचिस को बॉलीवुड की बेहतरीन फिल्मों में से एक माना जाता है । उन्होने जोश , तेरे मेरे सपने , क्या कहना , दाग – द – फायर , आदि फिल्मों में काम किया । इसके बाद से चंद्रचूड़ का स्टारडम इतना बढ़ गया था कि वे बहुत सी फिल्मों को रिजैक्ट कर देते थे , वे हमेशा एक अच्छे किरदार कि तलाश में रहते थे । लेकिन साल 2000 में उनकी जिंदगी में एक ऐसा मोड आया कि उनकी पूरी दुनिया ही पलट गई, वे एक ऐसे सड़क हादसे का शिकार हुए कि उनके कंधे बुरी तरह से जख्मी हो गए । यह हादसा कितना भयानक था इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते है कि चंद्रचूड़ को ठीक होने में 10 वर्ष का लंबा समय लग गया। जिसके बाद से उनका कैरियर एकदम ठप हो गया । काफी लंबे समय के बाद चंद्रचूड़ अब सुष्मिता सेन कि वेब सीरीज आर्य में नजर आए हैं ।

साधना शिवदासनी 

1941 में पाकिस्तान के कारांची में जन्मीं साधना शिवदासनी 60 के दशक की सबसे खूबसूरत और बेहतरीन हिरोईन थी । उन्होने वह कौन थी , मेरा साया , वक़्त , आरज़ू , असली नकली जैसी बहुत सारी हिट फिल्मों में काम किया । लड़कियों में चूड़ीदार सलवार और साधना कट हैयर स्टाइल  का सारा श्रेय साधना शिवदासनी को ही जाता है । लेकिन साधना के जीवन में एक ऐसा समय भी आया जब वे एक सड़क हादसे का शिकार हो गईं । इस हादसे में सबसे ज्यादा छति उनकी आँखों को हुआ और उस समय उनकी मदद के लिए कोई नहीं आया ।जिसके बाद उनका फिल्मी करियर एकदम से समाप्त हो गया । और इस प्रकार उनको अपनी बाकी की ज़िंदगी गुमनामी मे बिताना पड़ा । अंत में 25 दिसंबर 2015 को इस बेहतरीन अदाकारा का 74 वर्ष कि उम्र में निधन हो गया । उस समय साधना को The Mystery Girl के नाम से जाना जाता था ।

ज़ीनत अमान

ज़ीनत अमान भी 70 और 80 के दशक कि सबसे मशहूर अभिनेत्री और मॉडल थीं , उस समय इनके काम के लिए जाना जाता था । इन्होने सत्यम शिवम सुंदरम , डॉन , अजनबी जैसी हिट फिल्मों में काम किया । एक समय ऐसा था जब ज़ीनत अमान का संजय खान के साथ अफेयर था । उस समय ज़ीनत अमान के साथ एक घटना घटी थी , कहा जाता है कि ज़ीनत और संजय के रिश्तों मे कड़वाहट के चलते संजय ने गुस्से में आकर ज़ीनत को इतना पीटा था कि उनकी आँखों पर काफी चोट आई थी जिसकी वजह से उनकी एक आँख ही खराब हो गयी । और जिसके बाद से इस हादसे का असर उनके कैरियर पर पड़ा ।

सुधा चंद्रन

1965 में जन्मी सुधा चंद्रन एक प्रसिद्ध अभिनेत्री के साथ साथ डांसर भी हैं उन्होने बॉलीवुड और साउथ कि बहुत सारी फिल्मों में काम किया है । लेकिन जब वह 1981 मात्र 16 वर्ष कि थी तब उनके साथ एक बेहद ही भीषण दुर्घटना घटी थी और उस दुर्घटना में उनके दोनों पैर बहुत जख्मी हो गए थे । जिसके चलते उनके दाहिने पैर को काटना पड़ा और असली पैर कि जगह लकड़ी का पैर लगाया गया। नकली पैर होने के कारण सुधा का कैरियर 2 वर्षों तक मझधार में रहा , लेकिन एक पैर नकली होने के बाद भी सुधा ने अपने डांस को नहीं छोड़ा , जिसका परिणाम यह हुआ कि उनको काम मिलना शुरू हो गया जिसके बाद से वे कई फिल्मों में नजर आई । लेकिन 2006 के बाद से उन्हे कोई फिल्म नहीं मिली अब वे टीवी सिरियल में काम करती हैं ।

Tags

Updatewala Team

The Founder Of Updatewala a leading author and specializing in political, religious, and many more things

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close